Friday, June 17, 2016

अच्छे दिन ..... !

अच्छे दिन ..... !
-------------------

साहब तो साहब हैं
वो जिस दिन को चाहें ... उसे अच्छा कर दें
और जिसे चाहें ... उसे खराब,

अब जब वो कह रहे हैं
कह रहे थे
कि -
अच्छे दिन आने वाले हैं
तो मान लो ... आएंगे ... जरूर आएंगे,

ये और बात है
तुम्हारे न आएं, हमारे न आएं
पर ... किसी न किसी के तो आएंगे,

टमाटर वालों के आ सकते हैं ?
प्याज वालों के आ सकते हैं ?
दाल वालों के आ सकते हैं ?

पेट्रोल-डीजल वालों के आ सकते हैं ?
इनश्योरेन्स सेक्टरों के आ सकते हैं ?
मीडिया हाउसेस के आ सकते हैं ?

और तो और
बैंकों को चूना लगाने वालों ...
के भी ... आ सकते हैं ... अच्छे दिन ... ???

~ श्याम कोरी 'उदय'

3 comments:

राहुल के विचार said...

FDI से अच्छे दिन आएंगे?
योग से अच्छे दिन आएंगे?
विदेश दौरों से अच्छे दिन आएंगे ?
मन की बात से अच्छे दिन आएंगे?
कांग्रेस मुक्त, कम्पनी युक्त , अनाज मुक्त भारत?
लेकिन,
सिर्फ टीवी, रेडियों, अखबार के विज्ञापनों में अच्छे दिन नजर आएंगे ?

राहुल के विचार said...

FDI से अच्छे दिन आएंगे?
योग से अच्छे दिन आएंगे?
विदेश दौरों से अच्छे दिन आएंगे ?
मन की बात से अच्छे दिन आएंगे?
कांग्रेस मुक्त, कम्पनी युक्त , अनाज मुक्त भारत?
लेकिन,
सिर्फ टीवी, रेडियों, अखबार के विज्ञापनों में अच्छे दिन नजर आएंगे ?

Khayal Rakhe said...

हम आम भारतीय अच्छे दिन आने का इन्तेजार ही कर सकते है | देखते है यह इन्तेजार कब खत्म होगा ?