Monday, April 11, 2011

...... दैनिक जागरण में कडुवा सच !!

13 comments:

kshama said...

Badhayi ho!

sidheshwer said...

बधाई!

प्रवीण पाण्डेय said...

बधाई हो।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

आपको पहले सूचित किया या नहीं, इसे छापने से पहले... अनूप जी का अनुभव तो थोड़ा ठीक नहीं रहा इस छपाई के कारण..

Bhushan said...

सरकार झुकी नहीं, छिप गई है और मुस्करा रही है. क्या इसी लोकपाल बिल के ड्राफ्ट के बन जाने से परिवर्तन हो जाएगा. इसे पास भी होना है. इसमें बाद में परिवर्तन भी हो सकते हैं. इसे लागू कराने वाली एजेंसिया स्वयं भ्रष्ट हो सकती हैं जैसा अब तक का अनुभव है. नौकरशाही, जातपात, राजनीति वगैरह इसे कितना लागू होने देगी यह देखना होगा.

संजय भास्कर said...

............बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई ...........

संजय भास्कर said...

बधाई बधाई

संजय भास्कर said...

बधाई

संजय भास्कर said...

....बहुत बहुत बधाई

संजय भास्कर said...

....बहुत बहुत बधाई

संजय भास्कर said...

....बहुत बहुत बधाई

संजय भास्कर said...

....बहुत बहुत बधाई

अरविन्द जांगिड said...

बधाई स्वीकार करें...आभार.