Friday, October 26, 2012

मुबारकां ...


गर ... आज ... वतन में ... 
गलियों में ... 
चौराहों में ... 
दिलों में ... जज्बातों में - 
प्रेम है ... 
भाईचारा है ...
शान्ति है ... 
सौहार्द्र है ...
अमन है, ... चैन है !
तो ठीक है ... 
फिर ... आज ... अपनी भी -
दीवाली है ... 
होली है ... 
ईद है ... 
मुबारकां ...... शुभकामनाएँ !!

1 comment:

प्रवीण पाण्डेय said...

सबको मुबारक हो..