Monday, February 28, 2011

बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी ...

बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
कुछ छोटे बहुत बड़े, तो कुछ बड़े बेहद सहज दिखे !
...
बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
विजय बहादुर सिंह, जाने क्यों आँखों में बस गए !
...
बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
किसी से नहीं मिला, पर बहुतों से मुलाक़ात हो गई !
...
बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
एक सक्शियत से, मिलते मिलते, ठहर गया !
...
बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
बड़े बड़े मिजाज के लोग, छोटी छोटी यादें बिखेर गए !
...
बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
प्रमोद वर्मा स्मृति संस्थान के लिए, एक मील का पत्थर !
...
बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
विश्वरंजन, कहीं कुछ, नाम के अनुरूप नजर आए !
...
बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
मैं क्या था, क्यों था, कहाँ तक था पहुंचा, चर्चा जारी रखें !
...
बाबा नागार्जुन : एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
देख-सुन कर, मैंने भी, जाने क्या क्या सीख लिया !
...
फिर फिर नागार्जुन, एक अविस्मर्णीय राष्ट्रीय संगोष्ठी
संस्मरण : बाबा नागार्जुन, कुछ भूल गए, कुछ याद रहे !!
...
...
( ... आयोजन को देखने-सुनने के बाद ... जाने क्यों ... ये पंक्तियाँ मेरे जहन में बिजली सी कौंध पडीं ... जिन्हें प्रस्तुत करने से यहाँ खुद को नहीं रोक पा रहा हूँ .... इसलिए प्रस्तुत हैं ... इन पंक्तियों में छिपे भावों पर फिर कभी प्रकाश डालने का प्रयास अवश्य करूंगा ....... !! )
...
लिखना, बहुत कुछ, बहुत कुछ लिखना चाहता हूँ
पर जब, जेब में हांथ डालता हूँ, निकाल नहीं पाता !!
...
...

13 comments:

वन्दना said...

लिखना, बहुत कुछ, बहुत कुछ लिखना चाहता हूँ
पर जब, जेब में हांथ डालता हूँ, निकाल नहीं पाता !!

सही कह रहे हैं उदय जी …………कभी कभी बहुत कुछ कहना चाहते है हम मगर शब्द साथ छोड जाते हैं……………आपने बाबा के बारे मे जो भाव व्यक्त किये है वो दिल तक पहुँच रहे हैं।

ललित शर्मा said...

बहुत बढिया रपट है श्याम भाई।

आभार

mukes agrawal said...

बाबा नागार्जुन, कुछ भूल गए, कुछ याद रहे

प्रवीण पाण्डेय said...

कहने का नया अन्दाज़।

अरुण चन्द्र रॉय said...

कहने का नया अन्दाज़।

अरुण चन्द्र रॉय said...

बहुत बढिया रपट है !

KUCHH TO HAI... said...

cha gaye bhai sahab

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बाबा को आपके जरिये प्रणाम..

Patali-The-Village said...

आपने बाबा के बारे मे जो भाव व्यक्त किये है वो दिल तक पहुँच रहे हैं। धन्यवाद|

राज भाटिय़ा said...

बहुत सुन्दर रपट जी धन्यवाद

bilaspur property market said...

शानदार पोस्ट
महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाये

शिवकुमार ( शिवा) said...

बहुत बढिया ...

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

बहुत बढ़िया!
महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ!