Wednesday, January 12, 2011

सरकारें ! तू चोर, तू चोर, चोर चोर मौसेरे भाई !!

बफा की बातें, और बेवफाई यारा
आज का दौर है, सब चलता है !
.....
मन, भावनाएं, स्वप्न, कल्पनाएँ, स्वर्ग, नर्क
चलो सबको मिलाकर, रचें एक नया जहां 'उदय' !
.....
जीभ, आँखें, शब्द, भेद, सत्य, असत्य
अनोखा कुछ नहीं, सच ! ये जीवनचक्र है !
.....
उफ़ ! कल पढ़ा, मतदान, सबसे बड़ा दान है 'उदय'
सोचता हूँ, देने वाला या उकसाने वाला, कौन है ज्ञानी !
.....
मंहगाई ! दोनों कठघरों से आवाज आई है 'उदय'
सरकारें ! तू चोर, तू चोर, चोर चोर मौसेरे भाई !
.....

जख्म हों या मोहब्बत हो 'उदय'
जाते जाते ! निशां छोड़ जाते हैं !
.....
कल तक ये जहां, गुमशुम सा था
तुम जो मुस्कुराए, खुशी गई !
.....
जब जिक्र हो स्वतंत्रता का 'उदय'
सच ! नौकर तो गुलाम ही होते हैं !
.....
क्या हुआ, कैसे हुआ, कब हुआ, खबर नहीं
कल तक गरीब था, नेता बना अमीर हो गया !
.....
क्या हुआ, छोडो भी अब, जाने भी दो
भूल हुई, हमसे हुई, जो तुम्हें अपना कहा !
.....
भीड़ बढ़ती गई, बढ़ते ही चली गई 'उदय'
हम चलते रहे, कारवां भी चलता ही रहा !
.....
अब उनका गुनाह क्या, जो खड़े हैं बाजार में
खरीददार कोई और है, बिकबाल कोई और !
.....
अब सोतों को, मत जगाओ 'उदय'
उफ़ ! घर लुटता है, तो लुट जाने दो !

18 comments:

अरविन्द जांगिड said...

लुटता है तो लुट जाने दो.....सुन्दर रचना.

: केवल राम : said...

अब उनका गुनाह क्या, जो खड़े हैं बाजार में
खरीददार कोई और है, बिकबाल कोई और !
.....
सही फ़रमाया है ..परन्तु स्थिति के साथ क्या कर सकते हैं ..शुक्रिया

प्रवीण पाण्डेय said...

शब्दों का आक्रोश।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

मौसेरे ही क्यों?

वन्दना said...

बहुत ही कडवा सच लिखते है हमेशा ही।

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

सच से साक्षात्कार अच्छा लगा ...

संगीता पुरी said...

बहुत सही .. सुंदर प्रस्‍तुति !!

P S Bhakuni said...

मकर संक्राति ,तिल संक्रांत ,ओणम,घुगुतिया , बिहू ,लोहड़ी ,पोंगल एवं पतंग पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं

deepak saini said...

लुटता है तो लुट जाने दो.....सुन्दर रचना.

सुशील बाकलीवाल said...

लुटता है तो लुट जाने दो । उत्तम...

Kailash C Sharma said...

क्या हुआ, कैसे हुआ, कब हुआ, खबर नहीं
कल तक गरीब था, नेता बना अमीर हो गया !
.....
बहुत कटु सत्य..मन को छूलेने वाली प्रभावपूर्ण पंक्तियाँ..

राज भाटिय़ा said...

सत्य वचन जी

Harman said...

Happy Lohri To You And Your Family..

Lyrics Mantra
Ghost Matter
Download Free Music
Music Bol

Patali-The-Village said...

मन को छूलेने वाली प्रभावपूर्ण पंक्तियाँ| धन्यवाद|

"पलाश" said...

काश सोते हुये आपकी रचना पढ ले । या कोई उन्हे सुना ही दे ।
तो शायद वो हमेशा के लिये जाग जाये ।

उपेन्द्र ' उपेन ' said...

घर लुटता है, तो लुट जाने दो ! ........प्रभावपूर्ण पंक्तियाँ.

चैतन्य शर्मा said...

सक्रांति ...लोहड़ी और पोंगल....हमारे प्यारे-प्यारे त्योंहारों की शुभकामनायें......सादर

संजय भास्कर said...

..मन को छूलेने वाली पंक्तियाँ..