Tuesday, April 21, 2009

शेर - 28

पैसा बडा है, ईमान बदल दे
पर इतना भी नहीं, कि कुदरत को बदल दे।

5 comments:

अल्पना वर्मा said...

100% sach hai.

bahut badhiya sher!

mark rai said...

aapne kadwe sach ko dikha hi diya ..paisa bahut kuchh hai sabkuchh nahi

विनय said...

बहुत ख़ूब साहब!

नीरज कुमार said...

Wah-wah-wah...

Anonymous said...

वाह उदय साहाब
पैसा का कमाल बता रहे हो पैसा ही तो है जो सबको नचा रहा है इंसान को शैतान बना रहा है हर जगह पैसे का जोर है इसलिये तो हर कोई चोर है।