Monday, March 2, 2009

बोल-अनमोल

“जब तुम स्वयं को जीत जाओगे, तब इस दुनिया को जीतने लायक बनोगे।”

3 comments:

kumar Dheeraj said...

कहना आपका सही है लेकिन ऐसा होता कम ही है । लोग बिना जीते ही जीतने की कथा लोगो को कह डालते है और जीतने की नसीहत भी दे डालते है । बढ़िया टिप्पणी शुक्रिया

राज भाटिय़ा said...

सत्य वचन, कहते है ना मन जीते जग जीत.
धन्यवाद

प्रकाश बादल said...

उदय भाई क्या बात है!