Thursday, February 16, 2012

मसक्कत ...

सच ! हम न चाहेंगे
अब और जानना तुझको !
तुझको पाकर
पाते पाते
जो हमने तुझे जाना है
वो तो
'रब' ही जानता है
कि -
कैसे, हमने तुझे जाना है !!

2 comments:

Rajendra Gaikwad said...

Bahut hi badia..parantu.rub kis-kis ka dhiyaan rakhega bhai..

प्रवीण पाण्डेय said...

जानना या जान पाना..