Saturday, December 10, 2011

सॉरी ...

लो भाई
मैं भी अंग्रेजी सीख गया हूँ !
आज से -
मैं भी, किसी की भी
अंग्रेजी में, न सिर्फ ऐंसी की तैंसी
वरन -
माँ
बहन
जात
पात ...
एक कर सकता हूँ !
और तो और, किसी की भी -
बेधड़क
बेहिचक
खटिया भी, खड़ी कर सकता हूँ !
बात जब
पिटने-पिटाने की आयेगी
तब
सिर झुका के "सॉरी" कह दूंगा !!

5 comments:

Rahul said...

haha ........ nice

Patali-The-Village said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति| धन्यवाद|

Sunil Kumar said...

थैंक्स यु सर,मजेदार

प्रवीण पाण्डेय said...

सॉरी में कितने पाप धुल गये हैं सबके।

Amit Chandra said...

बहुत खूब.