Thursday, September 9, 2010

... भईय्या रुको एक मिनट ... मैं तत्काल आके बताता हूँ !!!!!!!!

ब्लागिंग बंद कर दो !
क्यों, क्या हो गया !

अब ब्लागिंग का कोई औचित्य नहीं है !
क्यों, किसलिए !

अब इसमें पूछने वाली क्या बात है !
जब तक आप बताओगे नहीं तो कैसे पता चलेगा !

भईय्या अब इसमें पूछने, बताने वाली क्या बात है, क्या आप को नहीं दिख रहा !
क्या भईय्या, हमें कुछ नहीं दिख रहा !

क्या तुम्हे नहीं दिख रहा की क्या हो रहा है ब्लागजगत में !
हम ठहरे नौसिखिया, हमें कुछ दिखता नहीं है, दिखता भी है तो कुछ समझ नहीं आता !

अरे ऐसा बोलो की सब मूकबधिर हो गए हो !
नहीं भईय्या, हम मूकबधिर नहीं हुए हैं !!!

अरे हाँ, बुद्धिजीवी लोग हैं, संभव ही नहीं है !!!
सीधा सीधा बोलो, क्या बोलना चाहते हो !

अब मैं कौन होता हूँ, बुद्धिजीवी वर्ग के बारे में बोलने वाला !!
नहीं नहीं बताओ, क्या बोलना चाहते हो !

अरे भाई, मैं कुछ बोलना नहीं चाहता, जानना चाहता हूँ !
क्या जानना चाहते हो !!

अरे भाई मैं सिर्फ इतना जानना चाहता हूँ कि क्या अब ब्लागजगत में अच्छे लेखन की क़द्र ख़त्म हो गई है जो कुत्ते-बिल्ली-चूहे की फोटो, जन्मदिन की खबरें, बच्चों के ब्लॉग, बच्चों की फोटोज, बच्चों की पेंटिंग्स, या फिर जो एक-दूसरे की पींठ खुजा रहे हैं उनकी पोस्टें ही हिट होंगी ???????
... भईय्या रुको एक मिनट ... मैं तत्काल आके बताता हूँ !!!!!!!!

5 comments:

kshama said...

Kuchh gur hame bhi bata deejiyega!

ललित शर्मा said...

एक-दूसरे की पींठ खुजा रहे हैं उनकी पोस्टें ही हिट होंगी ?

कितना सच कहते हो भैया आप
एक दम कड़ुव सच


आभार

प्रवीण पाण्डेय said...

आभार कड़ुवे सच का।

कमलेश भगवती प्रसाद वर्मा said...

uday ji shatpratishat satay hai is blogging ki duniya me..aap meri peeth khujao mai aapki....akdam CHATTAAKK

कमलेश भगवती प्रसाद वर्मा said...
This comment has been removed by the author.