Friday, January 25, 2019

क्या वफ़ा, क्या बेवफाई, सब सिलसिले हैं .... !

01

भक्ति क्या है ?
भक्ति एक कला है, और एक गुलामी भी है

बहुत कम लोग होते हैं जो
"भक्ति योग" में जन्म लेते हैं, और जो

एक बार "भक्ति योग" में जन्म ले लेते हैं
वो फिर,
जीवन भर भक्ति में ही रहते हैं

यह जरूरी नहीं, कि -
सिर्फ छोटे-मझौले लोग ही भक्त हो सकते हैं

बड़े, उनसे बड़े, और उनसे बड़े ... सबसे बड़े ....
भी भक्त हो सकते हैं,

हम, आज देख रहे हैं सबसे बड़े लोगों को
भक्त के रूप में .... ??

02

क्या वफ़ा, क्या बेवफाई, सब सिलसिले हैं ....

क्या इतना काफी नहीं है
कि -
वो हमें भूले नहीं हैं !

03

ऐसा भी क्या कुसूर था जो भुला दिया हमें
किसी न किसी काम तो आ ही रहे थे हम !

04

वक्त भी साथ है, और हवाएँ भी
जलाओ बस्तियाँ, देखें तो जरा बुझाने कौन आता है !

~ उदय

1 comment:

Dhruv Singh said...

आवश्यक सूचना :
अक्षय गौरव त्रैमासिक ई-पत्रिका के प्रथम आगामी अंक ( जनवरी-मार्च 2019 ) हेतु हम सभी रचनाकारों से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं में रचनाएँ आमंत्रित करते हैं। 15 फरवरी 2019 तक रचनाएँ हमें प्रेषित की जा सकती हैं। रचनाएँ नीचे दिए गये ई-मेल पर प्रेषित करें- editor.akshayagaurav@gmail.com
अधिक जानकारी हेतु नीचे दिए गए लिंक पर जाएं !
https://www.akshayagaurav.com/p/e-patrika-january-march-2019.html